allinallwomen.com

देश भक्ति गीत लिखित में

5 gaane देश भक्ति गीत लिखित में गाने ऐसे जिनमे बसे देशप्रेम

देश भक्ति गीत लिखित में संगीत किसी भी भावना को व्यक्त करने का सबसे सरल मार्ग है।और बात जब हमारे देश की हो तो हमारे हिंदी सिनेमा में देश को समर्पित एक से एक गाने बनाए गए है। और जब हम इन गानो को सुनते है तो अपने देश की गौरवगाथा सुनकर हमें बहुत गर्व महसूस होता है। हमारे देश में 26 जनवरी और 15 अगस्त दो ऐसे पावन मोके होते है जब सभी जगह स्कुल, कॉलेज, दफ्तर आदि में देश भक्ति गाने गए जाते है। खासकर के बच्चो को स्कूल में गाना गाना बहुत पसंद होता है। ऐसे में बच्चो को देश भक्ति गीत लिखित में चाहिए होता है। जिससे वह आसानी से गाने के बोल याद कर सके। इसलिए इस लेख में बहुत ही सूंदर देश भक्ति गीत लिखित में दे रहे है।

देश भक्ति गीत लिखित में

है प्रीत जहाँ की रीत सदा

जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने, भारत ने मेरे भारत ने
दुनिया को तब गिनती आई , तारों की भाषा भारत ने
दुनिया को पहले सिखलायी

देता ना दशमलव भारत तो यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था
धरती और चाँद की दूरी का अंदाज़ा लगाना मुश्किल था

सभ्यता जहाँ पहले आयी, पहले जनमी है जहाँ पे कला
अपना भारत वो भारत है जिसके पीछे संसार चला
संसार चला और आगे बढ़ा यूँ आगे बढ़ा, बढ़ता ही गया
भगवान करे ये और बढ़े बढ़ता ही रहे और फूले-फले

है प्रीत जहाँ की रीत सदा मैं गीत वहाँ के गाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ भारत की बात सुनाता हूँ

काले-गोरे का भेद नहीं हर दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको हमें प्यार निभाना आता है
जिसे मान चुकी सारी दुनिया मैं बात वो ही दोहराता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ भारत की बात सुनाता हूँ
है प्रीत जहाँ की रीत सदा

जीते हो किसी ने देश तो क्या हमने तो दिलों को जीता है
जहाँ राम अभी तक है नर में, नारी में अभी तक सीता है
इतने पावन हैं लोग जहाँ, मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ भारत की बात सुनाता हूँ

इतनी ममता नदियों को भी जहाँ माता कह के बुलाते है
इतना आदर इन्सान तो क्या पत्थर भी पूजे जातें है
उस धरती पे मैंने जनम लिया उस धरती पे मैंने जनम लिया

ये सोच
ये सोच के मैं इतराता हूं
भारत का रहने वाला हूं भारत की बात सुनाता हूं
है प्रीत जहां की रीत सदा

सांग क्रेडिट
सिंगर महेन्दर कपूर
म्यूजिक कल्याण जी, आनंद जी
Director: Manoj Kumar
Label:: Saregama India Ltd, A RPSG Group Company

हर करम अपना करेंगे

मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू ,तेरा सबकुछ मैं, मेरा सबकुछ तू

हर करम अपना करेंगे, हर करम अपना करेंगे, ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है, जां भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

तू मेरा कर्मा, तू मेरा धर्मा, तू मेरा अभिमान है,
ऐ वतन मेहबूब मेरे तुझपे दिल कुर्बान है
हम जिएंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है, जां भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

हिन्दू, मुस्लिम, सिख इसाई, हमवतन, हमनाम है,
जो करे इनको जुदा मजहब नहीं इल्ज़ाम है
हम जिएंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है, जां भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

तेरी गलियों में चलाकर नफरतों की गोलियां,
लुटते है कुछ लुटेरे दुल्हनों की डोलियाँ
लूट रहे है आप वो अपन घरों को लूटकर,
खेलते हैं बेख़बर अपने लहू से होलिया

दिल दिया है, जां भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

Song Credit

Movie: Karma
Singer : Mohammad Aziz, Kavita Krishnamurthy
Music : Laxmikant-Pyarelal
Lyrics: Anand Bakshi.
Label : Saregama India Limited
Year : 1986

देश भक्ति गीत लिखित में

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी

ऐ मेरे वतन के लोगों,
तुम खूब लगा लो नारा

ये शुभ दिन है हम सब का,लहरा लो तिरंगा प्यारा,
पर मत भूलो सीमा पर,वीरों ने हैं प्राण गवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो,कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर ना आए,जो लौट के घर ना आए

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुये हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी

ऐ मेरे वतन के लोगों,ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी

तुम भूल ना जाओ उनको इसलिए सुनो ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी

जब घायल हुआ हिमालय, ख़तरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लडे वो..
जब तक थी साँस लडे वो,फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा, सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी

जब देश में थी दीवाली,वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में..
जब हम बैठे थे घरों में,वो झेल रहे थे गोली

थे धन्य जवान वो अपने,थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी

कोई सिख कोई जाट मराठा, कोई सिख कोई जाट मराठा
कोई गुरखा कोई मदरासी, कोई गुरखा कोई मदरासी

सरहद पर मरनेवाला…
सरहद पर मरनेवाला हर वीर था भारतवासी

जो खून गिरा पर्वत पर,वो खून था हिन्दुस्तानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी

थी खून से लथपथ काया,फिर भी बंदुक उठाके
दस दस को एक ने मारा,फिर गिर गये होश गँवा के

जब अंत समय आया तो…
जब अंत समय आया तो कह गये के अब मरते हैं

खुश रहना देश के प्यारों,

खुश रहना देश के प्यारों, अब हम तो सफ़र करते हैं
अब हम तो सफ़र करते हैं

क्या लोग थे वो दीवाने, क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुये हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी

तुम भूल ना जाओ उनको इसलिए कही ये कहानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,ज़रा याद करो कुर्बानी
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना

जय हिंद,जय हिंद,जय हिंद
जय हिंद,जय हिंद,जय हिंद

Song Credits:
Song: Ae Mere Wattan Ke Logo
Artist: Lata Mangeshkar, Chorus
Music Director: C. Ramchandra
Lyricist: Pradeep Kumar
Label :: Saregama India Limited, A RPSG Group Company

देश भक्ति गीत लिखित में

जहाँ डाल डाल पर सोने की चिड़िया

गुरुर ब्रह्मा, गुरुर विष्णु, गुरुर देवो महेश्वराः
गुरुर साक्षात् परब्रह्मा, तस्मै श्री गुरुवे नमः

जहाँ डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा, वो भारत देश है मेरा।

जहाँ सत्य, अहिंसा और धर्म का
पग पग लगता डेरा,वो भारत देश है मेरा ।
वो भारत देश है मेरा

ये धरती वो जहाँ ऋषि मुनि, जपते प्रभु नाम की माला,
जहाँ हर बालक एक मोहन है,और राधा हर एक बाला
जहाँ सूरज सबसे पहले आ कर, डाले अपना फेरा,
वो भारत देश है मेरा, वो भारत देश है मेरा।

जहा गंगा जमुना कृष्णा और कावेरी बहती जाए
जहा उत्तर दक्षिण पूरब पश्चिम को अमृत पिलवायें
कही ये फल और फूल उगाए, केसर कही बिखेरा

अलबेलों की इस धरती के त्योहार भी है अलबेले,
कहीं दीवाली की जगमग है कहीं हैं होली के मेले
जहाँ राग रंग और हँसी खुशी का चारो और है घेरा,
वो भारत देश है मेरा ।

जहाँ आसमान से बाते करते,मंदिर और शिवाले,
जहाँ किसी नगर मे किसी द्वार पर,कोई न ताला डाले ।
और प्रेम की बंसी जहाँ बजाता,है आए शाम सवेरा,
वो भारत देश है मेरा ।

जहाँ डाल डाल पर
सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा ।

Song Credits:
Song: Jahan Dal Dal Pe Sone Ki Chidiya
Album: Sikander-E-Azam
Artist: Mohammed Rafi
Music Director: Hansraj Behl
Lyricist: Rajendra Krishan
Label:: Saregama India Ltd

ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू

ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू
ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू
मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू
मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू
ऐ वतन.. मेरे वतन
ऐ वतन.. मेरे वतन

तू ही मेरी मंजिल, पहचान तुझी से
तू ही मेरी मंजिल, पहचान तुझी से
पहुंचू मैं जहां भी मेरी बुनियाद रहे तू
पहुंचू मैं जहां भी
मेरी बुनियाद रहे तू

ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू
मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू
ऐ वतन.. मेरे वतन..

ऐ वतन.. मेरे वतन
तुझपे कोई ग़म की आंच आने नहीं दूं
तुझपे कोई ग़म की आंच आने नहीं दूं
कुर्बान मेरी जान तुझपे शाद रहे तू

कुर्बान मेरी जान तुझपे शाद रहे तू
ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू
मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू

ऐ वतन.. ऐ वतन..
मेरे वतन.. मेरे वतन..
आबाद रहे तू..

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top