allinallwomen.com

सरस्वती वंदना इन हिंदी

(टॉप 5) सरस्वती वंदना इन हिंदी 2024 { माँ सरस्वती शारदे }

सरस्वती वंदना इन हिंदी 2024 माता सरस्वती हिन्दू धर्म में एक पूज्य देवी हैं, जो ज्ञान, बुद्धि, और कला का प्रतीक हैं। उन्हें बुद्धि और रचनात्मकता का स्रोत माना जाता है। सामान्यत: एक वीणा, एक पवित्र शास्त्र, और एक कमल पर बैठे हुए चित्रित किया जाता है, जो पवित्रता और दैवीय चेतना का प्रतीक है। वसंत पंचमी का त्योहार उनकी पूजा के लिए मनाया जाता है, जिसमें भक्तजन अध्ययन, कला, और ज्ञान में सफलता के लिए उनका आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए करते हैं। उनका महत्व धार्मिक सीमाओं से परे है, जो ज्ञान और रचनात्मकता के प्रति एक सार्वभौमिक समर्पण को प्रोत्साहित करता है, जो सांस्कृतिक अंतरण को पार करके मानव जीवन को समृद्धि प्रदान करता है।

सरस्वती वंदना इन हिंदी

जयति जय जय माँ सरस्वती

जयति जय जय माँ सरस्वती
जयति वीणा धारिणी

जयति जय पद्मासन माता
जयति शुभ वरदायिनी

जयति जय जय माँ सरस्वती
जयति वीणा धारिणी

जगत का कल्याण कर माँ
तुम हो वीणा वादिनी

जयति जय जय माँ सरस्वती
जयति वीणा धारिणी

कमल आसन छोड़ कर आ
देख मेरी दुर्दशा मां

जयति जय जय माँ सरस्वती
जयति वीणा धारिणी

ग्यान की दरिया बहा दे
हे सकल जगतारणी

जयति जय जय माँ सरस्वती
जयति वीणा धारिणी

सरस्वती वंदना इन हिंदी 2024

माँ सरस्वती शारदे

माँ सरस्वती शारदे
पूर्ण इस अज्ञान उद्धर से
वीना पाणी तार दे तार दे
माँ सरस्वती शारदे

शरदे मा शरदे मा
सूर्या ब्रह्मा शिव विष्णु गजानन
जिन चरणों को सेवते है
हम शिशु अज्ञानी माता
इन चरणों का प्यार दे
वीना पाणी तार दे तार दे
माँ सरस्वती शारदे
माँ सरस्वती शारदे

मूरख हम ना जाने जननी
पूजा वंदन ध्यान को
आदि शक्ति कर क्षमा हमे
पूजा के अधिकार दे
वीना पाणी तार दे तार दे
माँ सरस्वती शारदे
माँ सरस्वती शारदे
शरदे मा शरदे मा

श्वेत कमल तेरा आसान है
श्वेत हंस तेरा वाहन है
हम पर सिद्ध दृष्टि कर जननी
बोध क्षीर की धार दे

वीणा वाली तार दे तार दे
माँ सरस्वती शारदे
माँ सरस्वती शारदे
शारदे मा शारदे मा

हे शारदे माँ हे शारदे माँ

हे शारदे माँ हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ

हे शारदे माँ हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ

हे शारदे माँ

तू स्वर की देवी यह संगीत तुझसे
हर शब्द तेरा हर गीत तुझसे

तू स्वर की देवी यह संगीत तुझसे
हर शब्द तेरा हर गीत तुझसे

हम है अकेले हम है अधूरे
तेरी शरण में हमें प्यार दे माँ

हम है अकेले हम है अधूरे
तेरी शरण में हमें प्यार दे माँ

हे शारदे माँ हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ

हे शारदे माँ
मुनियों ने समझी गुनियों ने जानी
संतो की भाषा आगम की बानी

मुनियों ने समझी गुनियों ने जानी
संतो की भाषा आगम की बानी

हम भी तो समझे हम भी तो जाने
विद्या का हमको अधिकार दे माँ

हम भी तो समझे हम भी तो जाने
विद्या का हमको अधिकार दे माँ

हे शारदे माँ हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ
हे शारदे माँ

तू श्वेतवर्णी कमल पर विराजे
हाथों में वीणा मुकुट सर पे साजे

मनसे हमारे मिटा दे अँधेरा
हमको उजाला का परिवार दे माँ

हे शारदे माँ हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ
हे शारदे

सरस्वती वंदना इन हिंदी 2024

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो
मैं गीत सुनाता हूं संगीत की शिक्षा दो
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो

सरगम का ज्ञान नहीं ना लय का ठिकाना है
सरगम का ज्ञान नहीं ना लय का ठिकाना है
तुम्हें आज सभा में माँ हमें दरश दिखाना है
संगीत समन्दर से सुर-ताल हमें दे दो
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो

शक्ति ना भक्ति है सेवा का ज्ञान नहीं
शक्ति ना भक्ति है सेवा का ज्ञान नहीं
तुम्हें आज सुनाने को कोई सुंदर गान नहीं
गीतों के खजाने से एक गीत मुझे दे दो
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो

अज्ञान ग्रसित होकर क्या गीत सुनाऊं मैं
अज्ञान ग्रसित होकर क्या गीत सुनाऊं मैं
टूटे हुये शब्दों से क्या स्वर को सजाऊं मैं
तुम ज्ञान का स्रोत बहामां मुझपे दया कर दो

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो
मैं गीत सुनाता हूं संगीत की शिक्षा दो

ya kundendu tushara lyrics

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।
या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं
वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌।
हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥२॥

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top