allinallwomen.com

laxmi chalisa lyrics in hindi

पढ़िए धनं की देवी माँ lakshmi ji ki aarti lyrics 2023

lakshmi ji ki aarti lyrics सनातन धर्म में सभी देवी देवताओ के पूजा का एक अलग ही विधान बताया गया और सप्ताह है हर दिन किसी न किसी भगवान् से जुड़ा हुआ है। सप्ताह का पांचवा दिन यानि कि शुक्रवार को माँ लक्ष्मी का दिन माना जाता है। लोग इस दिन माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए व्रत उपवास और उनकी पूजा अर्चना करते है। शुक्रवार के दिन लोग अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए वैभव लक्ष्मी का व्रत करते है, जिससे माता प्रसन्न होकर उनके इच्छा की पूर्ति करती है। ऐसा माना जाता है जिस मनुष्य पर धन की देवी प्रसन्न हो जाती है उसका पूरा जीवन ही सुखमय हो जाता है। परन्तु कोई भी पूजा आरती के बिना अधूरा है। पूजा संपन्न तभी माना जाता है जब आरती के साथ उसकी समाप्ति की गई हो इसलिए आज हम आपको lakshmi ji ki aarti lyrics लिख कर दे रहे है जिससे बिना किसी रूकावट के आप अपनी पूजा पूरी कर सके। तो चलिए सुरु करते है lakshmi ji ki aarti lyrics के साथ।

lakshmi ji ki aarti lyrics

लक्ष्मी माता की आरती

 

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । शुभ लाभ
तुमको निशिदिन सेवत,मैया जी को निशदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता।
सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

जिस घर में तुम रहतीं तह, सब सद्गुण आता।
सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर, क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

महालक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता।
उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता ।
तुमको निशिदिन सेवत,मैया जी को निशदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता॥

lakshmi ji ki aarti lyrics

laxmi ji ki aarti Video By t series

बाबा बागेश्वर धाम द्वारा धनवान बनने के लिए बताये उपाय

1 शुक्रवार के दिन पीपल के वृक्ष का पूजन करे वह दीपक जलाये ऐसा करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है।

2 सुबह के समय बनने वाली रोटी में से पहली रोटी गाय को प्रतिदिन गुड़ के साथ खिलाये। ऐसा करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है और घर अन्न धन से भरा रहता है।

3 शुक्रवार के दिन कमल गट्टे की माला पर माँ लक्ष्मी जी के बीज मंत्र ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये नमः का 108 बार जप करे। ऐसा करने से माँ लक्ष्मी जल्द ही प्रसन्न होकर धनवान होने का आशीर्वाद देती है।

4 घर का मुख्य द्वार हमेशा साफ सुथरा रखे। क्योकि सुख समृद्धि मुख्य द्वारा से ही आती है। घर के मुख्य द्वार पर गोबर से लिपाई करे।

5 बुधवार के दिन गणेश जी को गुड़ और चने का भोग लगाए। तथा इस प्रसाद को छोटी छोटी कन्याओ में बाट दे। वह थोड़ा सा प्रसाद खुद भी ग्रहण करे

lakshmi ji ki aarti lyrics

6 शुक्रवार के दिन अपनी सामर्थ के अनुसार अन्न का दान अवशय करे। चाहे तो थोड़ा सा ही करे। या किसी भूखे को भोजन करा दे अथवा कही भंडारा हो रहा हो तो उसमे सहयोग करे ऐसा करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है वह आपके यह कभी अन्न की कमी नहीं पड़ती।

7 शुक्रवार के दिन 5 कौड़ी, थोड़ी सी केसर और चांदी या ताबे का एक सिक्का लेकर लाल या पीले रंग के कपड़े में बांधकर पोटली बना लें. इस पोटली को अपनी तिजोरी में रख दें। इस उपाय को करने से सदैव माँ लक्ष्मी जी का आपके घर में वास होगा।

8 घर के उत्तर दिशा में कभी भी कूड़ादान नहीं रखना चाहिए ऐसा करने से माँ लक्ष्मी रुष्ट हो सकती है।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top