allinallwomen.com

राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए

राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए { मनभावन टॉप 10 भजन 2024 }

(राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए) हिन्दू धर्म में राधा और कृष्ण के दिव्य जोड़े को समर्पित विशेष गाने हैं। ये गाने प्रेम, भक्ति, और परमपिता से आध्यात्मिक संबंध व्यक्त करने में मदद करते हैं। गीतों की शब्दावली राधा और कृष्ण के सुंदर प्रेम कहानी को बयान करती है, जिसमें उनके विशेष बंधन की सार्थकता को पकड़ा गया है। इन भजनों के साथ आत्मा-चित्त को शांति का अनुभव होता है । लोग इन गानों का उपयोग राधा-कृष्ण से जुड़ने के लिए करते हैं | तो चलिए हम भी ऐसे ही कुछ सूंदर भजनो से खुद को राधा कृष्णा से जोड़ने का प्रयास करे।

सांवरे को दिल में बसा कर तो देखो

सांवरे को दिल में बसा कर तो देखो
सांवरे को दिल में बसा कर तो देखो
सांवरे को दिल में बसा कर तो देखो
दुनिया से मन को हटा कर तो तो देखो
दुनिया से मन को हटा कर तो तो देखो

बड़ा ही दयालु है बांके बिहारी
बड़ा ही दयालु है बांके बिहारी
बड़ा ही दयालु है बांके बिहारी
बड़ा ही दयालु है बांके बिहारी
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो

बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार
बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार

बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार
बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार

हो बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार
बांके बिहारी भक्तों के दिलदार
सदा लुटाते हैं कृपा के भण्डार

मीरा ने जैसे गिरिधर की पाया
मीरा ने जैसे गिरिधर की पाया
ओ मीरा ने जैसे गिरिधर की पाया

प्याला ज़हर का अमृत बनाया
ओ प्याला ज़हर का अमृत बनाया
प्याला ज़हर का अमृत बनाया

ओ प्याला ज़हर का अमृत बनाया
प्याला ज़हर का अमृत बनाया

तुम अपनी हस्ती मिटा कर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर देखो
इक बार वृन्दावन आकर देखो
इक बार वृन्दावन आकर देखो

तेरी पल में झोली वो भर देगा
तेरी पल में झोली वो भर देगा
ओ तेरी पल में झोली वो भर देगा

दुःख दर्द जिंदगी के वो हर लेगा
दुःख दर्द जिंदगी के वो हर लेगा
ओ दुःख दर्द जिंदगी के वो हर लेगा

ओ दुःख दर्द जिंदगी के वो हर लेगा
दुःख दर्द जिंदगी के वो हर लेगा

चौखट पे दामन फैला कर तो देखो
चौखट पे दामन फैला कर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो

श्याम बिना तेरा कोई ना अपना
श्याम बिना तेरा कोई ना अपना
ओ श्याम बिना तेरा कोई ना अपना

ये दुनिया है सब झूठा सपना
ये दुनिया है सब झूठा सपना
आ ये दुनिया है सब झूठा सपना

ये दुनिया है सब झूठा सपना
ये दुनिया है सब झूठा सपना

नज़रो से पर्दा हटा कर तो देखो
नज़रो से पर्दा हटा कर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो
इक बार वृन्दावन आकर तो देखो

चित्र विचित्र का तो बस यही कहना
चित्र विचित्र का तो बस यही कहना
आ चित्र विचित्र का तो बस यही कहना

प्रभु चरणो से कही दूर नहीं रहना
प्रभु चरणो से कही दूर नहीं रहना
ओ प्रभु चरणो से कही दूर नहीं रहना

प्रभु चरणो से कही दूर नहीं रहना
प्रभु चरणो से कही दूर नहीं रहना

जिंदगी ये बंदगी में मिटा कर तो देखो
जिंदगी ये बंदगी में मिटा कर तो देखो
इक बार वृन्दावन आ कर के देखो
इक बार वृन्दावन आ कर के देखो

SONG CREDIT SINGER CHITRA, VICHITA

राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए

चलो रे मन श्री वृंदावन धाम

चलो रे मन श्री वृंदावन धाम रटेगे राधे राधे नाम,
मिलेंगे कुंज बिहारी ओढ के कामर कारी |
चलो रे मन श्री वृंदावन धाम रटेगे राधे राधे नाम,
मिलेंगे कुंज बिहारी ओढ के कामर कारी ||

प्रात होत हम श्री यमुना जी जाएंगे,
कर असनान हम जीवन सफल बनाएंगे,
तेरे पूरण हो सब काम रट्टेगे वहा राधे राधे नाम ||

श्री वृन्दावन धाम की महिमा भारी है,
महलन की सरकार श्री राधे जू प्यारी है,
क्यों भटके खामा खा रट्टेगे राधे राधे नाम ||

श्री वृदावन धाम श्री बांके बिहारी को,
एक टक होते न दर्शन बांके बिहारी को,
तू जपले आठो याम रट्टेगे वहा राधे राधे नाम ||

चलो रे मन श्री वृंदावन धाम रटेगे राधे राधे नाम,
मिलेंगे कुंज बिहारी ओढ के कामर कारी |
चलो रे मन श्री वृंदावन धाम रटेगे राधे राधे नाम,
मिलेंगे कुंज बिहारी ओढ के कामर कारी ||

तेरे रंग में रंगा हर ज़माना मिले,

तेरे रंग में रंगा हर ज़माना मिले,
हाय तेरे रंग में रंगा ज़माना मिले,

मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले हाँ मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले

सारे जग में तेरा ही तो एक नूर है हाँ मेरा कान्हा भी तुझसे ही मशहूर है
मेरा कान्हा भी तुझसे ही मशहूर है बदकिस्मत है वो जो तुझसे दूर है
बदकिस्मत है वो जो तुझसे दूर है ,हाँ तुझसे दूर है, तुझसे दूर है
जो तुझसे दूर है, तुझसे दूर है

बदकिस्मत है वो जो तुझसे दूर है
बदकिस्मत है वो जो तुझसे दूर है
तेरे नाम का हर मस्ताना मिले
तेरे नाम का हर मस्ताना मिले

मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
हाँ मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले….

तेरी रहमत के गीत गाने आया हूँ मैं
कई गुनाहो की सौगात लाया हूँ मैं
कर दो करुणा जगत का सताया हूँ मैं -2
हाँ दर पे आया हूँ मैं, दर पे आया हूँ मैं
हाँ आज आया हूँ मैं, आज आया हूँ मैं
कर दो करुणा जगत का सताया हूँ मैं
कर दो करुणा जगत का सताया हूँ मैं

रहमत का इशारा नजराना मिले
रहमत का इशारा नजराना मिले
मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
हाँ मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले…..

तेरी पायल बंसी उनकी बजती रहे
जोड़ी प्रीतम प्यारे की सजती रहे
तेरे रसिकों पे छायी ये मस्ती रहे -2
हाय तेरी मस्ती रहे, तेरी मस्ती रहे
हां तेरी मस्ती रहे, तेरी मस्ती रहे
तेरे रसिकों पे छायी ये मस्ती रहे
तेरे रसिकों पे छायी ये मस्ती रहे

तेरे चरणों की रज में ठिकाना मिले
तेरे चरणों की रज में ठिकाना मिले
मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
हाँ मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले

तेरा बरसाना राधे मेरी जान है
मेरे अरमानो की आन है शान है
तेरी गलियों पे चाकर ये कुर्बान है
हाँ ये मेरी जान है, ये मेरी जान है
हाँ ये मेरी जान है, ये मेरी जान है
तेरी गलियों पे चाकर ये कुर्बान है
तेरी गलियों पे चाकर ये कुर्बान है

गाऊं जब भी तेरा अफसाना मिले
गाऊं जब भी तेरा अफसाना मिले
मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
हाय मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले

खुश रहे तू सदा ये दुआ है मेरी
बरसाना फले ये सदा है मेरी
तेरे चरणों में रहना सजा है मेरी
ये सजा है मेरी, ये सजा है मेरी
हाँ ये सजा है मेरी, ये सजा है मेरी
तेरे चरणों में रहना सजा है मेरी
तेरे चरणों में रहना सजा है मेरी

रवि रस का सदा ही दीवाना मिले
रवि रस का सदा ही दीवाना मिले
मैं जहाँ भी, मैं जहाँ भी
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
हाँ मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहू बरसाना मिले.

सिंगर पूनम दीदी

राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है ।

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है ।
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे,तेरा दरबार काफी है ॥

नहीं चाहिए ये दुनियां के,निराले रंग ढंग मुझको,
निराले रंग ढंग मुझको ।
चली जाऊँ मैं वृंदावन,तेरा श्रृंगार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं

जगत के साज बाजों से, हुए हैं कान अब बहरे,
हुए हैं कान अब बहरे ।
कहाँ जाके सुनूँ बंशी, मधुर वो तान काफी है
जगत के रंग क्या देखूं

जगत के रिश्तेदारों ने,बिछाया जाल माया का
बिछाया जाल माया का
तेरे भक्तों से हो प्रीति, श्याम परिवार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं

जगत की झूटी रौनक से,हैं आँखें भर गयी मेरी
हैं आँखें भर गयी मेरी
चले आओ मेरे मोहन, दरश की प्यास काफी है
जगत के रंग क्या देखूं

जगत के रंग क्या देखूं,तेरा दीदार काफी है ।
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे, तेरा दरबार काफी है ॥
सिंगर जया किशोरी

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया
दिल दीवाना हो गया, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे नैन तिरछे, दूसरा काजल लगा
तीसरा नज़रें मिलाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे होंठ पतले, दूसरा लाली लगी
तीसरा तेरा मुस्कुराना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे हाथ कोमल, दूसरा मेहँदी लगी
तीसरा मुरली बजाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे पाँव नाज़ुक, दूसरा पायल बंधी
तीसरा घुंगरू बजाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे भोग छप्पन, दूसरा माखन धरा
तीसरा खिचडे का खाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तेरे साथ राधा दूसरा रुक्मण खड़ी
तीसरा मीरा का आना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

एक तो तुम देवता हो, दूसरा प्रियतम मेरे
तीसरा सपनों में आना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया
दिल दीवाना हो गया, दिल दीवाना हो गया

लगन तुमसे लगा बैठे,जो होगा देखा जायेगा

लगन तुमसे लगा बैठे,जो होगा देखा जायेगा
तुम्हे अपना बना बैठे,जो होगा देखा जायेगा

कभी दुनिया से डरते थे के छुप छुप याद करते थे
लो अब पर्दा उठा बैठे जो होगा देखा जायेगा
लगन तुमसे लगा बैठे जो होगा देखा जायेगा

कभी ये ख्याल था दुनिया हमें बदनाम कर देगी
शरम अब बेच खा बैठे जो होगा देखा जायेगा
लगन तुमसे लगा बैठे जो होगा देखा जायेगा

दीवाने बन गए तेरे तो फिर दुनिया से क्या लेना
तेरी चरणों में आ बैठे जो होगा देखा जायेगा
लगन तुमसे लगा बैठे जो होगा देखा जायेगा

लगन तुमसे लगा बैठे जो होगा देखा जायेगा
तुम्हे अपना बना बैठे जो होगा देखा जायेगा

राधा-कृष्ण के भजन लिखे हुए

सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है
चलो सत्संग में चले हमें हरी गुण गाना है
सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

मीरा पुकार रही आओ मेरे गिरधारी
विषभर प्याले को अमृत मय बनाना है
सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

द्रौपदी पुकार रही आओ मेरे बनवारी
चिर बढ़ा जाओ मेरी लाज को बचाना है
सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

शबरी पुकार रही आओ मेरे रघुराइ
खट्टे मिट्ठे बेरो का तुम्हे भोग लगाना है
सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है
चलो सत्संग में चले हमें हरी गुण गाना है
सांवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top